Maut Shayari And Maut Attitude Status Hindi | Maut Ki Shayari



Maut Shayari In Hindi: हेल्लो दोस्तों स्वाग है आपका हमारी इस नयी पोस्ट में जिसमे हमने Maut Par Shayari और Shayari On Maut पे शायरी शेयर किये आप इन शायरियो को copy कर करके अपने स्टेटस पे शेयर कर सकते है | अगर आपको हमारी ये पोस्ट अच्छी लगे तो अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करे | 



Maut Shayari | Maut Shayari In Hindi For Love

Maut Shayari
Maut Shayari



छोड़ दिया मुझको आज मेरी मौत ने यह कह कर, हो जाओ जब ज़िंदा, तो ख़बर कर देना।



उनसे बिछड़े तो मालूम हुआ मौत क्या चीज है ज़िन्दगी वो थी जो हम उनकी महफ़िल में गुजार आए ।


तेरी ही जुस्तजू में जी लिए इक ज़िंदगी हम, गले मुझको लगाकर खत्म साँसों का सफ़र कर दे।


ढूंढोगे कहाँ मुझको, मेरा पता लेते जाओ, एक कब्र नई होगी एक जलता दिया होगा।


इश्क़ भी बड़ी ना मुराद चीज़ है इसी का होता है जो किसी का नहीं होता।


मौत का एक दिन मुअय्यन है नींद क्यूँ रात भर नहीं आती ।

Shayari On Maut And Zindagi


चूम कर कफ़न में लपटे मेरे चेहरे को उसने तड़प के कहा, नए कपड़े क्या पहन लिए, हमें देखते भी नहीं'।


तलब मौत की करना गुनाह है ज़माने में यारों, मरने का शौक है तो मुहब्बत क्यों नहीं करते।




आशिक़ मरते नहीं सिर्फ दफनाए जाते हैं, कब्र खोद कर देखो इंतज़ार में पाए जाते हैं।


अब तलक हम मुन्तजिर हैं जिनके उनको हमारा ख्याल तक न आया,
उनके प्यार में हमारी जान तक चली गयी और उनको हमारी मौत का मलाल तक न आया।


वादे भी उसने क्या खूब निभाए हैं ज़ख्म और दर्द तोहफे में भिजवाए हैं,
इस से बढ़कर वफ़ा कि मिसाल क्या होगी मौत से पहले कफ़न का सामान ले आये हैं।


तू बदनाम ना हो इसलिए जी रहा हूँ मैं, वरना मरने का इरादा तो रोज होता है।


तसव्वर में न जाने कातिबे-तकदीर क्या था, मेरा अंजाम लिखा है मेरे आगाज से पहले।

Maut Shayari 2 Lines

Maut Shayari 2 Lines
Maut Shayari 2 Lines


ज़िंदगी बैठी थी अपने हुस्न पे फूली हुई, मौत ने आते ही सारा रंग फीका कर दिया।


अब मौत से कह दो कि नाराज़गी खत्म कर ले, वो बदल गया है जिसके लिए हम ज़िंदा थे​।


खबर सुनकर मरने की वो बोले रक़ीबों से, खुदा बख्शे बहुत-सी खूबियां थीं मरने वाले में।


अक्सर वो मुझसे पूछता है किया ज़िन्दगी है और किया मौत में खामोश रह कर दिल ही दिल में कहती हु तुझे पा लिया तोह ज़िन्दगी है और खो दिया तो मौत है


मौत को तो यूँ ही बदनाम करते हैं लोग, तकलीफ तो साली ज़िन्दगी देती है !!


तमन्ना ययही है बस एक बार आये, चाहे मौत आये चाहे यार आये।


एक दिन जब हुआ इश्क का एहसास उन्हें  वो हमारे पास आके सारा दिन रोते रहे और हम भी इतना खुदगर्ज निकले यारो आँखे बंद करके कफन में सोते रहे ।

Maut Wali Shayari

Maut Wali Shayari
Maut Wali Shayari


ऐ मौत तुझे एक दिन आना है भले, आ जाती शबे फुरकत में तो अहसां होता।




हुआ जब इश्क़ का एहसास उन्हें आकर वो पास सारा दिन रोते रहे,
हम भी निकले खुदगर्ज़ इतने यारो कफ़न में आँखें बंद करके सोते रहे।


एक ना एक दिन आएगा सबके दर पर काल कान में धीरे से बोलेगा बेटा समय हो गया चल ।


तुम समझते हो कि जीने की तलब है मुझको, मैं तो इस आस में ज़िंदा हूँ कि मरना कब है।


तू बदनाम न हो जाए इस लिए जी रहा हूँ मैं वरना मरने का इरादा तो रोज ही होता है।


किसी कहने वाले ने भी क्या खूब कहा है कि, मेरी ज़िन्दगी इतनी प्यारी नहीं की मैं मौत से डरूं।

Maut Pe Shayari


न उड़ाओ यूं ठोकरों से मेरी खाके कब्र ज़ालिम, यही एक रह गई है मेरे प्यार की निशानी।


ज़िन्दगी ज़ख्मो से भरी है वक्त को मरहम बनाना सीख लो हारना तो मौत के सामने है फ़िलहाल ज़िन्दगी से जीना सीख लो ।


शिकायत मौत से नहीं अपनों से थी मुझे जरा सी आँख बंद क्या हुई वो कब्र खोदने लगे।


वो धुंद रहे थे हमे शायद उन्हें हमारी तलाश थी, पर जहाँ वो खड़े थे वही दफ़न हमारी लाश थी।


ज़िंदा लाशो की भीड़ है चारो तरफ, मौत से भी बड़ा हादसा है ज़िन्दगी।


उम्र तमाम बहार की उम्मीद में गुजर गयी, बहार आई है तो पैगाम मौत का लाई है।

Maut Shayari 2 Lines Hindi

Maut Shayari 2 Lines Hindi
Maut Shayari 2 Lines Hindi




बहाने मौत के तो तमाम नज़र आते हैं, जीने की वजह तेरे सिवा कुछ नही भी।


मेरी मौत के सबब आप बने, इस दिल के रब आप बने, पहले मिसाल थे वफ़ा की, जाने यूँ बेवफ़ा कब आप बने।


मौत-ओ-हस्ती की कशमकश में कटी उम्र तमाम, गम ने जीने न दिया शौक ने मरने न दिया।


कफ़न की गिरह खोल कर मेरा दीदार तो कर लो, बंद हो गई हैं वो आँखे जिन से तुम शरमाया करती थी।


जब मेरा जनाज़ा इस ज़माने से निकला मेरे जनाज़े को देखने सारा ज़माना निकला मगर मेरे जनाज़े में वो न निकले जिस के लिए मेरा जनाज़ा में निकला।


जब रुकने लगी थी सांसे और कांपने लगे थे पैर सोचने लगे हम की अब
होने वाली है मौत की सेर।

Shayari Maut Ka Intezar

Shayari Maut Ka Intezar
Shayari Maut Ka Intezar


एक दिन ये नज़ारा भी देख लेना ज़ालिम मेरा जनाजा तेरी बरात से अच्छा होगा।


मैं आज भी उन्ही फैसलों में उलझा हूँ कभी जिनमे तू मुझसे मशवरे लिया करती थी।




वो तो मौत की जिद थी.. सो उसकी ही चली, वरना टक्कर अच्छी दी थी मेरे मुल्क के सिपाही ने।


कौन कहता है कि मौत आई तो मर जाऊँगी, मैं तो नदी हूँ समुंदर में उतर जाऊँगी।



ये भी जरुर पढ़े:

Rajput Attitude Status In Hindi

Jaat Status Shayari In Hindi

Killer Attitude Status Hindi  

Short Status In Hindi  

Senti Status For Whatsapp

Senti Status In Hindi
Maut Shayari And Maut Attitude Status Hindi | Maut Ki Shayari Maut Shayari And Maut Attitude Status Hindi | Maut Ki Shayari Reviewed by Aashu on May 02, 2019 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.